मेरा स्वर्ग आपके चरणों में

alfaazmeredilse

16997752_1858507464438533_7481963455468606692_n

ईश्वर;
कौन है?
इससे लोगो का तात्पर्य
एक चमत्कारी शक्ति से है|

वास्तव में कहे तो
माता-पिता ही ईश्वर है
क्योकि वो ही है हमारे इस संसार में आने की वजह
वो नहीं तो कुछ नहीं|

पिता भगवान है तो
तो माता के चरणों में स्वर्ग दिखता है
अगर सच्ची आस्था रखो तो
ये दोनों हमारे जीवन के एक म्ह्त्वपूण स्तम्भ है|

इन स्तम्भ के बिना
जीवन की कल्पना असंभव है
ये ही तो जीवन में आगे बढने का ज़रिया है
इनके गिरने से जीवन के सभी सपने चूर चूर हो जाते है|

खुशनसीब है वो
जिनके जीवन में
माता-पिता का साया है
क्योकि कुछ लोग तो बस कल्पना ही करते है|

माता-पिता ही तो
सुख-दुःख में आपका साथ देते है|
ये ही तो जीवन के
हर कष्टों का निवारण करते है|

16806946_1858665331089413_3788286066838470188_n

ऋषिका सृजन

–XxXxX–

©All Rights Reserved
© Rishika Ghai

image courtesy google

View original post

जागरूक

alfaazmeredilse

16804300_1853248374964442_2900660695985491152_o

आज की दौर में लोग अफ्वाओं पर
आखँ मुंद कर विश्वास करते है उसे सच मानते हैं
वह ये भूल जाते है कि उन्हें
खुद उस घटने से अवगत होना चाहिए|

क्योकि दूसरो का कहा

हमेशा सच नहीं होता
कभी कभी लोग धोखे में डालने या नफरत
पैदा करने के लिए भी अफवा फैलाते है|

***
जब तक अपनी आखों से देख न लो

समझ न लो, परख न लो
तब तक उस घटना पर विश्वास मत करो 

और सच जाने बीना किसी निष्कर्ष पर मत पहुचो|

***

नही तो जीवन में अनर्थ हो सकता है
खुशियों का पलायन निश्चित है
इसलिए जीवन में घटित परिस्थितियों
से अवगत रहना ज़रूरी है|

ऋषिका सृजन 

–XxXxX–

©All Rights Reserved
© Rishika Ghai

image courtesy google

View original post

कैसी होती हैं ये बेटियाँ?

alfaazmeredilse

arun-jaitley-an13183

फूलों सी नाजुक होती हैं ये बेटियाँ
पुरे घर को अपनी खुशबू से महका देती हैं ये बेटियाँ
अपने जीने की इच्छाशक्ति को मार कर
दूसरो के लिए जीवन जीती चलती है ये बेटियाँ
अपने सुख दुःख की परवाह किये बिना
दूसरों को खुशी देने की कोशिश करती है ये बेटियाँ।

***

वक्त आने पर बेटा बन जाती है ये बेटियाँ
और पुरे परिवार का बोझ संभालती है ये बेटियाँ
चाहे कितनी भी कठिन परिस्तिथियाँ क्यों न हो
खुद से पहले परिवार का सोचती है ये बेटियाँ
चाहे तुम उसके सपने ही क्यों न कुचाल दो
बिना उफ करे हस्ते खेलते सब कुछ सह जायेंगी ये बेटियाँ

***

अपने गमो को कभी ब्या नहीं करेंगी ये बेटियाँ
जब भी बुलाओगे दोड़ी चली आएगी ये बेटियाँ
पुरे संसार को पीछे छोड़ कर
खुद की ख्वाहिशो को दिन में दबाये जीए जाएंगी ये बेटियाँ
बिना खुद की परवाह करे दूसरो की ख्वाहिशो
को पूरा करने…

View original post 87 more words

My Yellow WagonR

alfaazmeredilse

16299199_1845228882433058_4189729317571095818_n
By- Rishika Ghai
When I was in class one
We bought a new car
A yellow WagonR
Its been 13 years now
And we still have this car
So many memories attached to it
It gets me all nostalgic.
*** 
I remember the days that
How we use to travel
From Alwar to Delhi.
And moved our dogs
From one posting to another. 
 Its traveled a lot
In these past 13 years.
 ***
From to Alwar to Jammu,
To Nasirabad and Hyderabad, 
And Assam and then Allahabad
Now back to Alwar it shall go
The place where we bought it long time ago.
*** 
Learning driving at the age of 18
It’s me and my WagonR
Driving down to the driving school
And then returning back
There’s not a moment now
That I don’t miss my friend, my WagonR.
 ***
Now my dogs are old
And need more space to…

View original post 77 more words

The Dentist’s Chair

38632015-a-illustration-of-patients-waiting-in-a-hospital-waiting-room

 By-Rishika Ghai

The worse thing in life
Is to sit, do nothing and wait

People want their work to be done
And over with as fast as possible
Hence they hate to wait.
Waiting in queue for check up,
At the dental clinic
The fear of unknown and the dental chair
Making them impatient
Do they have any alternative?
Cancelling all the other appointments of the day
To wait to be drilled on the dentist’s chair
Is the sad reality faced by everyone who suffers.

–XxXxX–

©All Rights Reserved
© Rishika Ghai

image courtesy google

#appointments, #dentist, #suffers, #worse

Overconfident

alfaazmeredilse

20150807202838-success-couple-man-woman-sunset

By-Rishika Ghai 

Achieving your goal of becoming successful
Is not the only thing in life
You should never forget
Those who helped you achieve it.

Sometime people attribute their
Success to their worth
Mostly it is said by children
To their respective parents.

Suggesting that their parents did nothing for them
Hinting that they have grown up on their own
Without any support and sacrifice
And have also became successful.

But they forget that
Without parents they are nothing
For parents are like roots of a tree
And we are the branches of that tree.

Every requirement of the tree’s branches is fulfilled by roots.
So never forget the importance of parents in your life
And remember to thank them for their support
As they are the biggest reason for success in our life.

–XxXxX–

©All Rights Reserved
© Rishika Ghai

The Daily Post

image courtesy google

View original post

ख़ुशी

alfaazmeredilse

unnamed

क्यों आती है ख़ुशी?
जीवन में पल भर के लिए
आकर फिर कहाँ खो जाती है ख़ुशी?
जीवन को फिर अँधेरे में ढकेल जाती है
पर जब भी आती है ये ख़ुशी
जीवन को हरा भरा और खुशहाल कर देती है|

***

यह खुशियाँ ही तो है
जो मनुष्य को जीना सिखा जाती है
जीवन में रस भर जाती है,
नीरस सा लगता है, इसके बिना जीवन
और जीने की इच्छा शक्ति खत्म होती जाती है|

***

ये छोटी छोटी खुशियाँ ही तो है
जब जीवन में गमों के बाद आती है

तब अपना महत्व और भी बढ़ा जाती है 
 और जीवन को खुशहाल बनाती है ये ख़ुशी
तो खुशियों को जीवन में ग्रहण करते चलो
और ख़ुशी से जीवन जीते चलो|

ऋषिका सृजन 

–XxXxX–

©All Rights Reserved
© Rishika Ghai

image courtesy google

View original post